STORY OF THE DAY – राजा का मिजाज

STORY OF THE DAY – राजा का मिजाज

एक प्रदेश का एक राजा अपने राज्य के भ्रमण पर भेष बदल कर निकला तो उसने देखा सब और लोग बड़ी मेहनत कर रहे थे किसी के चेहरे पर कोई भाव नहीं थे तो राजा को लगा कि अवश्य ही मेरे राज में लोग खुश नहीं है इसलिए जब वो लौटा तो उसने सेनिको को आदेश दिया की पूरे राज्य में ये मुनादी करवा दो कि आज के बाद अगर कोई हंसता हुआ नहीं पाया गया तो उसे फांसी दे दी जाएगी |

ये हो जाने के बाद में राज्य में हर आदमी हँसते हुए सारे काम करने लगे अगर कोई रोता भी तो भी हंस हंसा के रोता अगर किसी से झगड़ा भी होता तो भी हंस हंसा के झगड़ा करते तो एक बार ऐसा हुआ कि राजकुमार शिकार करते हुए जंगल में मारा गया तो लोग उसे लेकर दरबार में आये इस पर मंत्रियों ने भी हँसते हुए राजकुमार के मरने की खबर राजा को दी | इस पर राजा आगबबूला हो गया और ये मुनादी करवा दी कि आज के बाद जो हँसता हुआ पाया गया उसे फांसी दे दी जाएगी और सारे लोगो को रोना है |

इसके बाद तो अगर किसी को कुछ ख़ुशी भी होती तो भी वो आंसू बहाता किसी से कुछ बातें करनी होती तो भी रो रो के करता कुछ दिनों बाद रानी को बेटा हुआ तो दाई ने रोते हुए आकर राजा को खबर दी और मंत्रियों ने भी रोते रोते राजा को बधाई दी तो राजा फिर गुस्से में हो गया और राजा ने कहा मुझे बेटा हुआ है और आप लोग रो रहे है | आज से कोई नहीं रोयेगा |

लोग फिर से भावविहीन हो गये इसलिए ये कहावत बनी है कि ” राजा के सामने रोये तो भी गलत है और हँसे तो भी गलत |” उसके मिजाज का कुछ भी नहीं कह सकते |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *